breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजहेल्थ
Trending

sputnik light:सितंबर में लॉन्च होगी सिंगल डोज वाली स्‍पूतनिक लाइट वैक्‍सीन,ये है दाम

तीसरी लहर के खतरे(third wave)के बीच जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीनेशन में सिंगल डोज वाली वैक्‍सीन बड़े काम आ सकती है। RDIF के एक बयान के अनुसार, रूस में हुए ट्रायल में स्‍पूतनिक लाइट ने 80% एफिशियंसी दिखाई है।

Single-dose-sputnik-light-to-be-launch-in-India-at-September

नई दिल्ली:अब जल्द ही देशवासियों को एक और कोरोना रोधी टीका(Covid-19 vaccine) मिलने वाला है।

देश के वैक्सीनेशन(India vaccination program) प्रोग्राम को और ज्यादा बूस्ट करने के लिए भारत में ही निर्मित की गई सिंगल डोज वैक्सीन ‘स्पूतनिक लाइट’ अगले महीने सितंबर में लॉन्च होने वाली(Single-dose-sputnik-light-to-be-launch-in-India-at-September) है ।

भारत के ड्रग रेगुलेटर के समक्ष पनेसिया बायोटेक ने हाल ही में एक डॉजियर सब्मिट किया है और स्पूतनिक लाइट'(sputnik-light) के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मांगी है। 

कोरोना से Covishield वैक्सीन 93 फीसदी तक देती है सुरक्षा: डॉ वी के पॉल

पनेसिया और रशियन डायरेक्‍ट इनवेस्‍टमेंट फंड (RDIF) के बीच पहले ही पार्टनरशिप हो चुकी थी। ‘स्‍पूतनिक लाइट’ शुरुआत में सीमित मात्रा में उपलब्‍ध होगी।

इसका दाम 750 रुपये(sputnik-light single dose price almost Rs 750) रहने का अनुमान है।

 

 

स्‍पूतनिक लाइट ट्रायल में 80फीसदी तक रही सफल

Single-dose-sputnik-light-to-be-launch-in-India-at-September

‘स्‍पूतनिक लाइट’ को भी गामलेया इंस्टिट्यूट ने विकसित किया है। रिसर्च को RDIF ने पूरा सपोर्ट किया। मई में इस वैक्‍सीन को रूस में आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी दी गई थी।

एक्‍सपर्टस इस वैक्‍सीन को ज्‍यादा ‘मुफीद’ मानते हैं।

तीसरी लहर के खतरे(third wave)के बीच जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीनेशन में सिंगल डोज वाली वैक्‍सीन बड़े काम आ सकती है।

RDIF के एक बयान के अनुसार, रूस में हुए ट्रायल में स्‍पूतनिक लाइट ने 80% एफिशियंसी दिखाई है।

Covishield 780, Covaxin 1410, Sputnik v 1145 रुपये- प्राइवेट अस्पतालों में COVID-19वैक्सीन के रेट

 

दो डोज वाली स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन की सप्‍लाई भी होगी बहाल

Single-dose-sputnik-light-to-be-launch-in-India-at-September

अभी तक, दो डोज वाली स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन(sputnik v vaccine) का इस्‍तेमाल हो रहा है। हैदराबाद स्थित डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज के ऊपर इस वैक्‍सीन को भारत में लगाने का जिम्‍मा है।

सूत्रों के मुताबिक, स्‍पूतनिक वी की किल्‍लत इस महीने के आखिर तक खत्‍म हो सकती है।

स्पूतनिक वी के फुल रोलआउट को होल्‍ड पर डाल दिया गया था, इसी वजह से इसमें देरी हो रही है।

जुलाई में, पनेसिया बायोटेक ने घोषणा की थी कि उसे स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन बनाने का लाइसेंस मिल गया है।

हिमाचल प्रदेश के बद्दी स्थित प्‍लांट में बने वैक्‍सीन के बैच क्‍वालिटी चेंकिंग से पार पा चुके हैं।

सेंट्रल ड्रग लैबोरेटरी ने भी वैक्‍सीन को ओके कर दिया है। पनेसिया हर साल 10 करोड़ डोज बनाएगी जिसे डॉ रेड्डीज लगाएगी।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले एक एक्‍सपर्ट पैनल ने डॉ रेड्डीज को भारत में अप्रूवल के लिए रशियन डाटा सब्मिट करने की अनुमति दे दी थी।

चूंकि स्‍पूतनिक लाइट असल में स्‍पूतनिक वी का ही फस्‍ट डोज है, ऐसे में यह इजाजत दी गई।

(इनपुट एजेंसी से भी)

 

Single-dose-sputnik-light-to-be-launch-in-India-at-September

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + twelve =

Back to top button