breaking_newsअन्य ताजा खबरेंटेक न्यूजटेक्नोलॉजीदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

सूर्यग्रहण 2021 : आज है साल का पहला सूर्यग्रहण, जानें ग्रहण पर क्या करना है वर्जित

सूर्यग्रहण(Solar Eclipse 2021) : जानियें 148 साल बाद शन‍ि जयंती और वट साव‍ित्र‍ि व्रत के दिन पड़ने वाले इस सूर्यग्रहण की खासीयत

surya grahan 2021 date time suryagrahan mein ye na kare solar eclipse 2021

नई दिल्ली, (समयधारा) : आज 10 जून 2021, गुरूवार को इस साल का पहला सूर्यग्रहण है। 

हमारे देशवासी हमेशा से ग्रहों को अपने दैनिक जीवन में आने वाले प्रभाव से जोड़कर देखते है l 

 इसमें सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण की अपनी अलग ही मान्यता है l 

सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण के दौरान पूजन ध्यान करने के लिए कहा जाता है l 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूतक काल में कोई भी शुभ काम करना की मनाही है l यह अशुभ माना जाता है l

कई लोग अपने घरों से कहीं बाहर नहीं जाते हैं, और ग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने का प्रयास करने की कोशिश करते हैं l 

इस दौरान खाना खाने की तो विशेष मनाही होती है l इसलिए कई लोग ग्रहण लगने से पहले ही खाना खा लेती है l 

surya grahan 2021 date time suryagrahan mein ye na kare solar eclipse 2021

 माना जाता है कि खाद्य वस्तुएं ग्रहण की वजह से अपवित्र हो जाती हैं l इसलिए लोग ऐसा करते है l 

खासतौर पर अन्न के विषय में ऐसी मान्यता है l  वहीं प्रेग्नेंट महिलाओं को ग्रहण के वक्त भूख लगे तो वह फलाहार कर सकती हैं l 

सूर्य ग्रहण का समय (Surya Grahan date-time) 

अगर हम भारतीय समयानुसार देखें तो सूर्यग्रहण 10 जून 2021 को दोपहर  1 बजकर  42 मिनट पर शुरू होगा।

इसके पश्चचात यह  6 बजकर 41 मिनट पर खत्म हो जाएगा। इस तरह से देखा जाये तो सूर्यग्रहण की अवधि करीब-करीब 5 घंटे तक रहेगी l 

  • आंशिक सूर्यग्रहण सुबह 11:42 बजे
  • वलयाकार सूर्यग्रहण दोपहर 3:30 बजे 
  • रिंग सूर्यग्रहण शाम 4:52 बजे 

इस वर्ष का  सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2020) बाकि अन्य ग्रहणों से काफी अलग है इस बार का सूर्यग्रहण  जो ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को आया है, 

सूर्य ग्रहण के साथ ही इस दिन शन‍ि जयंती और वट साव‍ित्र‍ि व्रत भी है l ऐसा संयोग 148 साल बाद आया है l

Surya Grahan 2020:आज है सदी का पहला सूर्यग्रहण,जानें ग्रहण का समय,सावधानियां

ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप, एशिया में आंशिक रूप में दिखाई देगा l 

जबकि ग्रीनलैंड, उत्तरी कनाडा और रूस में पूर्ण सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा l  

surya grahan 2021 date time suryagrahan mein ye na kare solar eclipse 2021

सूर्य ग्रहण का सूतक कालSutak Kaal time

सूर्य ग्रहण से पहले और सूर्य ग्रहण के समय कुछ कामों को कहने की मनाही होती है।

मान्यता है कि यह वर्जित समय या सूतक काल होता है। जिसमें कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता।

शास्त्रों के अनुसार सूर्यग्रहण लगने से 12 घंटे पहले सूतक काल हो जाता है

सूर्यग्रहण के दौरान सूर्य करीब 84 प्रतिशत तक छुप जाएगा।

आप में से कई लोगों को यह पता नहीं होगा की सूर्यग्रहण क्या है 

आपकी जानकारी के लिए बता दे सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा के आ जाने की खगोलिया स्थिति से,

जब सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाता है, तो इस स्थिति को ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है l 

क्यों है यह सूर्यग्रहण सबसे खास

10 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण इसलिए भी खास है, क्योंकि शनि जयंती पर ग्रहण का योग करीब 148 साल बाद बन रहा है  l

इससे पहले शनि जयंती पर पर सूर्य ग्रहण 26 मई 1873 को हुआ था. बता दें कि सूर्य और शनि देव पिता-पुत्र हैं l

सूर्य ग्रहण कहां-कहां दिखेगा

साल का पहला सूर्य ग्रहण भारत में सभी जगहों पर नजर नहीं आएगा l

लेकिन इस नजारे को आखिरी समय में बेहद कम समय के लिए लद्दाख की उत्तर सीमाओं और अरुणाचल प्रदेश की दिबांग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी से शाम को तकरीबन 5 बजकर 52 मिनट पर देखा जा सकेगा l

चलिए अब बताते है कि सूर्य ग्रहण के समय क्या करें और क्या न करें-

Solar-eclipse-2021-

1. ग्रहण काल में भूलकर भी खान-पान, शोर मचाना या किसी भी तरह का शुभ कार्य जैसे कि पूजा-पाठ आदि नहीं करना चाहिए।

2. हालांकि, आप चाहें तो इस दौरान गुरु मंत्र का जाप, किसी भी मंत्र की सिद्धी, रामायण, सुंदरकांड का पाठ आदि कर सकते हैं.

3. सूतक लगने के बाद गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. ग्रहण काल में सूर्य की पराबैंगनी किरणे निकलती हैं। यह किरणें गर्भस्थ शिशु के लिए हानिकारक होती हैं।

surya grahan 2021 date time suryagrahan mein ye na kare solar eclipse 2021

4. ग्रहण खत्म हो जाने के बाद पवित्र नदियों में स्नान कर के शुद्धिकरण कर लेना चाहिए।

5. सूतक लगने से पहले घर में मौजूद खाने की सभी चीजों में तुलसी के पत्ते या फिर घांस डाल देनी चाहिए।

6. साथ ही घर के मंदिर को सूतक लगने से पहले ही पर्द से ढक दें या फिर उसके कपाट बंद कर दें।

7. माना जाता है कि ग्रहण खत्म होने के बाद मन की शुद्धी के लिए दान-पुण्य करना चाहिए।

Show More

Reena Arya

रीना आर्य www.samaydhara.com की फाउंडर और एडिटर-इन-चीफ है। रीना आर्य ने पत्रकारिता के महज 6-7 साल के भीतर ही अपने काम के दम पर न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपनी पहचान बनाई बल्कि तमाम चुनौतियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए समयधारा.कॉम की नींंव रखी। हर मुद्दे पर अपनी ज्वलंत और बेबाक राय रखने वाली रीना आर्य एक पत्रकार, कंटेंट राइटर,एंकर और एडिटर की भूमिका निभा चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × three =

Back to top button