breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

सोची-समझी साजिश के तहत चीन ने किया हमला: विदेश मंत्री एस. जयशंकर

एस.जयशंकर ने बुधवार 17 जून को अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ फोन पर बात की...

China Galwan valley attack a well-planned conspiracy:S Jaishankar

नई दिल्‍ली: चीन के सैनिकों ने पूरी सोची-समझी साजिश (India-China border tension) के तहत कार्रवाई की जोकि लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प का कारण बनी। यह कहना है भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर का। 

एस.जयशंकर (S Jaishankar) ने बुधवार 17 जून को अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ फोन पर बात की। यह बातचीत चीन और भारत के सैनिकों के बीच उस हिंसक झड़प को लेकर हुई जिसमें भारत के एक कर्नल सहित 20 जवानों की शहादत (20-indian-soldiers-martyred) लद्दाख में हो गई। 

हालांकि ANI न्यूज एजेंसी के अनुसार, इस हिंसक झड़प में चीन के भी लगभग 43 सैनिक हताहत हुए है लेकिन इस बात पर भारत सरकार की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया और न ही सेना ने आधिकारिक तौर पर चीन के सैनिकों के हताहत होने को लेकर कोई बयान दिया है।

China Galwan valley attack a well-planned conspiracy:S Jaishankar

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एकदम दो टूक अंदाज में कहा कि  ‘इस घटना’ से दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर गंभीर असर पड़ेगा और चीन को अपनी कार्रवाई का पुनर्मूल्‍यांकन करने और सुधारात्‍मक कदम उठाने की जरूरत है।

हालांकि दोनों नेताओं ने तनाव को काम करने पर सहमति जताई है और कहा कि “कोई भी पक्ष मामले को बढ़ाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं करेगा और इसके बजाय, द्विपक्षीय करारों और प्रोटोकॉल के अनुसार शांति सुनिश्चित करेगा।” लद्दाख में हुई हिंसक झड़प के मुद्दे पर भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच फोन पर बात हुई।

दोनों मंत्रियों एस जयशंकर और वांग यी के बीच  ने लद्दाख झड़प के मद्देनजर हालात पर चर्चा की।

विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा, “भारत और चीन को अपने नेताओं द्वारा पहुंची गई महत्वपूर्ण सहमति का पालन करना चाहिए.”

विदेश मंत्री ने कहा कि चीन ने जान-बूझकर उकसाने वाली कार्रवाई की और यथा‍स्थिति (Satus Qup) बदलने की सोची-समझी कोशिश की. भारत की तरफ़ LAC में चीन ने निर्माण की कोशिश की।

China Galwan valley attack a well-planned conspiracy:S Jaishankar

दोनों पक्षों में 6 जून के फ़ैसले पर अमल की सहमति बनी है और इसके मुताबिक अमन-चैन बहाल करेंगे।

विदेश मंत्री ने कहा कि सैनिकों को वास्तविक नियंत्रण रेखा का दृढ़तापूर्वक सम्मान करना चाहिए और इसे बदलने के लिए कोई एकपक्षीय कार्रवाई नहीं करनी चाहिए। कुल मिलाकर इस बात पर सहमति बनी कि स्थिति को जिम्मेदाराना तरीके से संभाला जा।

उधर, चीनी विदेश मंत्रालय के हवाले से बताया गया है कि दोनों राष्ट्रों ने जल्द से जल्द निष्‍पक्ष तरीके से सीमा विवाद को सुलझाने और तनाव को कम करने पर सहमति जताई है।

चीनी विदेश मंत्री वांग यी (Chinese Foreign Minister Wang Yi) ने भारत (India) से आग्रह किया है कि वह संघर्ष के लिए जिम्मेदार ‘लोगों’ को गंभीर रूप से दंडित करे और अपने सीमावर्ती सैनिकों को नियंत्रित करे।

हालांकि चीनी प्रवक्ता भी इससे पहले, दोनों पक्षों के बीच बातचीत के माध्यम से इस मुद्दे को हल करने की इच्‍छा जता चुके हैं।

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में चीनी (China) सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों को जान गंवानी पड़ी थी जबकि चार सैनिक गंभीर रूप से घायल हुए हैं। झड़प में चीन के भी करीब 45 सैनिकों की जान जाने की खबर हैं।

 

China Galwan valley attack a well-planned conspiracy:S Jaishankar

 

(इनुपट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + twenty =

Back to top button