breaking_newsअन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

Pakistan के पीएम नहीं रहे इमरान खान,कुर्सी गई,अब इनके हाथ में आई कमान

संविधान की धज्जियां उड़ाते हुए डिप्टी स्पीकर ने इमरान खान के खिलाफ बिना वोटिंग कराएं अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया और इसके साथ ही नेशनल असेंबली की कार्यवाही भी स्थगित कर दी।

Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now

पाकिस्तान(Pakistan) में रविवार पूरा दिन सियासी भूचाल जारी रहा।जहां दिन में इमरान खान ने अपने खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज(No confidence motion rejected against Imran Khan) कराकर विपक्ष को चौंका दिया,

तो वहीं अब पाकिस्तान सरकार के कैबिनेट सचिव की ओर से एक नया सर्कुलर जारी हुआ(according to Pak cabinet secretary new circular)है,

जिसमें दावा किया जा रहा है कि इमरान खान अब आधिकारिक तौर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नहीं(Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now) है।

आपको बता दें कि कल यानि रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान(Pakistan PM Imran Khan)की सरकार के खिलाफ नेशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी थी,

लेकिन ऐन मौके पर इमरान खान ने स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के साथ मिलकर ऐसी गुगली फेंकी की विपक्ष चित हो गया।

संविधान की धज्जियां उड़ाते हुए डिप्टी स्पीकर ने इमरान खान के खिलाफ बिना वोटिंग कराएं अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया और इसके साथ ही नेशनल असेंबली की कार्यवाही भी स्थगित कर दी।

इसके बाद इमरान खान(Imran Khan) ने पाकिस्तान की आवाम को संबोधित करते हुए विपक्ष पर आरोप लगाएं कि उनके खिलाफ(इमरान खान के)विदेशी ताकतों के साथ मिलकर साजिश की गई

और साजिश के तहत ही उनकी सरकार गिराने की कोशिश का स्पीकर ने पर्दाफाश कर दिया है।

अब उनकी कौम को चुनाव के लिए तैयार रहना है। इतना ही नहीं,इमरान खान ने यह भी कहा कि वह राष्ट्रपति से नेशनल असेंबली भंग करने की सिफारिश करते है और राष्ट्रपति ने इसकी मंजूरी भी दे दी

इसपर विपक्ष बिफर गया और इमरान खान के इस कदम को पाकिस्तान के संविधान के साथ खिलवाड़ और लोकतंत्र की हत्या बताया।

Pakistan के PM इमरान खान ने खोया बहुमत का आंकड़ा,अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से पहले ही मुख्य सहयोगी ने छोड़ा साथ

अब नए सर्कुलर के मुताबिक,इमरान खान पाकिस्तान के आधिकरिक तौर पर प्रधानमंत्री नहीं(Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now) है।

हालांकि इससे पहले पाक के निवर्तमान मंत्री फवाद चौधरी ने कहा था कि अनुच्छेद 224 के तहत इमरान खान फिलहाल कार्यवाहक पीएम बने रहेंगे।

दरअसल,रविवार देर रात गए पाकिस्तान सरकार(Pakistan govt) की ओर से नया सर्कुलर जारी किया गया। जिसमें लिखा गया है, “पाकिस्तान के राष्ट्रपति द्वारा पाकिस्तान विधानसभा को भंग करने के बाद संसदीय मामलों के मंत्रालय, दिनांक 3 अप्रैल, 2022, पाकिस्तान के इस्लामी गणराज्य के संविधान के अनुच्छेद 48(1) के साथ पढ़े गए अनुच्छेद 58(1) के अनुसार, इमरान अहमद खान नियाज़ी के पाकिस्तान प्रधान मंत्री के पद को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया(Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now) है।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने इमरान खान की सलाह पर नेशनल असेंबली को भंग कर दिया था। इसके कुछ ही घंटों बाद इमरान खान ने कैबिनेट को भंग कर दिया था और इससे पहले पाक नेशनल एसेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी ने इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज किया था।

पाक सरकार के कैबिनेट सचिव के नोट से यह स्पष्ट होता है कि इमरान खान अब प्रधानमंत्री नहीं(according to Pak cabinet secretary new circular )हैं और सरकार देश की नौकरशाही से चल रही है। 

 

 

 

विपक्ष ने पाकिस्तान का नया पीएम शहबाज शरीफ को घोषित किया
उधर, इससे पहले इस बीच विपक्ष ने पीएमएल-एन के नेता शहबाज शरीफ को 195 सदस्यों के समर्थन से प्रधानमंत्री घोषित किया है।

विपक्ष ने शाम को अविश्वास प्रस्ताव(No confidence motion) खारिज होने के बाद नेशनल एसेंबली पर कब्जा किया और अयाज सादिक को अध्यक्ष नियुक्त किया। जिन्होंने इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को फिर से मान्य किया। 

 

Pakistan का प्रधानमंत्री पद खो सकते है इमरान खान,सेना प्रमुख से मिले,विपक्ष ला रहा अविश्वास प्रस्ताव

 

विपक्ष की सुप्रीम कोर्ट में गुहार
वहीं, विपक्ष ने सदन भंग करने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। मुख्य न्यायाधीश उमर अता बंदियाल ने सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित करते हुए कहा कि नेशनल असेंबली को भंग करने के संबंध में प्रधान मंत्री और राष्ट्रपति द्वारा शुरू किए गए सभी आदेश और कार्रवाई अदालत के आदेश के अधीन (Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now) होगी। 

 

ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले से देश में रोष, SGPC प्रतिनिधिमंडल जायेगा पाकिस्तान

 

पाकिस्तानी सेना ने सियासी लड़ाई से पल्ला झाड़ा

उधर, सर्वशक्तिमान पाकिस्तानी सेना ने राज्य की राजधानी में चल रही राजनीतिक घटनाओं में किसी भी भूमिका से इनकार कर दिया है।

 

सेना के जनसंपर्क विंग के प्रमुख मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने कहा, “सेना का राजनीतिक प्रक्रिया से कोई लेना-देना नहीं है।” सदन के विघटन का मतलब है कि अगली सरकार का चुनाव करने के लिए तीन महीने के भीतर चुनाव होंगे।

Pakistan-Imran-Khan-not-officially-Prime-Minister-now
(इनपुट एजेंसी से)

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button