Trending

Russia-Ukraine-War:फंसे भारतीयों के लिए ऑपरेशन गंगा शुरू,नई एडवाइजरी जारी,अधिकारी वापसी में बॉर्डर चेक प्लाइंट्स पर करेंगे मदद

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि कीव(Kyiv)में अब और कोई भारतीय नहीं है।इसलिए कीव स्थित भारतीय दूतावास को बंद कर दिया गया है।

Russia-Ukraine-War-New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine

नई दिल्ली:रूस-यूक्रेन के बीच जंग(Russia-Ukraine-war)और भयानक हो गई है।खासकर जबसे यूक्रेन के साथ रूस की बातचीत असफल रही है,तब से रूस के हमले यूक्रेन पर और तेज हो गए है।

ऐसे में यूक्रेन में फंसे(Ukraine Crisis)हजारों भारतीयों के लिए जान-माल की आफत है।रूसी तोपों ने खार्किव में बहुत जान-माल का नुकसान किया है।

खारकीव(Kharkiv)में एक भारतीय नवीन शेखरप्पा की भी हमले में मौत हो गई है।नवीन कर्नाटक के रहने वाले थे।जब हमला हुआ वह एक राशन की दुकान के आगे खड़े थे।नवीन के पिता जी से पीएम मोदी ने बात की है।

ऐसे में अब केंद्र सरकार ने यूक्रेन के विभिन्न शहरों में फंसे भारतीयों को वापस स्वदेश लाने के लिए ऑपरेशन गंगा (Operation Ganga) के अंतर्गत कोशिशें तेज कर दी(New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine) हैं।

हालांकि भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि कीव(Kyiv)में अब और कोई भारतीय नहीं है।इसलिए कीव स्थित भारतीय दूतावास(Kyiv Indian Embassy)को बंद कर दिया गया है।

फंसे भारतीयों को यूक्रेन से बाहर निकालने के लिए अब एक नई एडवाइजरी जारी की(Russia-Ukraine-War-New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine)गई है।

इसके तहत पोलैंड में भारतीय दूतावास के अधिकारियों को बॉर्डर चेक प्वाइंट्स पर तैनात किया गया है।

एडवाइजरी में कहा गया है कि इन सभी अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे सभी फंसे भारतीयों को वतन वापसी में मदद(officials deployed at border check points for help them)करे।

ऑपरेशन गंगा के तहत 12-15 फ्लाइट्स आएंगी।रेस्क्यू के लिए तीन दिन में 26 फ्लाइट्स चलाई जाएंगी।3-4 मार्च को सबसे ज्यादा उड़ानें आएंगी।सी-17 विमान पहले ही रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए निकल चुका है।

सूत्रों के अनुसार, मंगलवार को पीएम मोदी ने विदेश मंत्रालय को कहा कि ऑपरेशन गंगा में वायुसेना की भी मदद ली जाए, जिससे भारतीयों की वापसी का अभियान तेज हो।

अभी तक एयर इंडिया और इंडिगो के विमान इस कार्य में लगाए गए थे। वहीं, केंद्रीय मंत्रियों ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

Russia Ukraine Conflict: रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच बातचीत शुरू,क्या निकलेगा कोई रास्ता?

यूक्रेन में फंसे भारतीयों से जुड़ी प्रमुख बातें

Russia-Ukraine-War-New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine-key-points:

-यूक्रेन में फंसे लोगों को निकालने के लिए भारतीय दूतावास ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि भारतीय नागरिक शेहिनी-मेड्यका सीमा (Shehyni-Medyka border) पार करने से बच सकते हैं, जहां भीड़भाड़ है

-पोलैंड में प्रवेश करने के लिए वर्तमान में Lviv, Ternopil और पश्चिमी यूक्रेन के अन्य स्थानों में रहने वाले भारतीय बुडोमिर्ज़ बॉर्डर चेक-पॉइंट से आ सकते हैं। वैकल्पिक रूप से उन्हें हंगरी या रोमानिया के माध्यम से गुजरने के लिए दक्षिण की यात्रा करने की सलाह दी गई है।

Russia-Ukraine-War-New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine

-पोलैंड में भारतीय दूतावास के अधिकारियों को मेड्यका और बुडोमिर्ज़ बॉर्डर चेक प्वाइंट्स पर तैनात किया गया है। यहां पर ये अधिकारी सभी भारतीय को रिसीव कर वतन वापसी में मदद कर रहे हैं।  

-जो लोग किसी अन्य सीमा पार से पोलैंड में प्रवेश करते हैं, जहां भारतीय अधिकारी तैनात नहीं हैं। उनको सीधे होटल प्रेज़ीडेन्की (Prezydencki), उल की ओर जाने को कहा गया है।Rzeszow में Podwistocze 4S में उनके ठहरने के लिए सभी प्रबंध किए गए हैं।

Russia-Ukraine-War:रूस बेलारूस में बातचीत को तैयार,यूक्रेन का इनकार,कहा-शांति को तैयार,लेकिन बातचीत बेलारूस में नहीं

-यदि भारतीय छात्रों के पास इसके लिए पैसे नहीं है, तो दूतावास द्वारा होटल में परिवहन शुल्क का भुगतान किया जाएगा। बता दें कि यूक्रेन की राजधानी कीव में भारतीय दूतावास को बंद कर दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि यूक्रेन की राजधानी कीव में भारतीय दूतावास को यह सुनिश्चित करने के बाद बंद कर दिया गया है कि वहां अब कोई भारतीय नहीं रह गया है। 

मिशन गंगा के तहत यूक्रेन में फंसे भारतीयों की वतन वापसी की प्रक्रिया चल रही है। इस योजना के तहत, 8 मार्च तक 46 उड़ानें संचालित की जाएंगी। यह उड़ानें 26 फरवरी से परिचालित हो रही हैं। इसमें से बुखारेस्ट से 29 उड़ानें, बुडापेस्ट से 10 उड़ानें, Rzeszow की 6 उड़ानें, Kocise की एक उड़ान शामिल है। बुखारेस्ट के लिए भारतीय वायुसेना एक उड़ान संचालित करेगी।

-इससे पहले, रोमानिया में भारतीय दूतावास ने साफ किया है कि यूक्रेन से आने के बाद रोमानिया से विशेष उड़ान लेने के लिए किसी भारतीय को वीजा की जरूरत नहीं है। भारतीय दूतावास का कहना है कि हमें यूक्रेन से निकासी के बाद रोमानिया में अभी शरण लेने वाले भारतीय छात्रों से कुछ सवाल मिले हैं कि क्या कुछ दिनों के बाद वीजा की जरूरत के मद्देनजर वे वहां से बाहर नहीं निकल सकेंगे।

Russia-Ukraine war update:डटे रहेंगे यूक्रेन के राष्ट्रपति,राजधानी कीव छोड़ने का अमेरिकी प्रस्ताव ठुकराया,कहा-सवारी नहीं गोला बारूद चाहिए

-भारत ने मानवीय सहायता के तौर पर यूक्रेन को पोलैंड के रास्ते दवाओं और अन्य राहत सामग्री की पहली खेप मंगलवार को भेजी। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने मीडिया को बताया कि बुधवार को एक अन्य विमान से पूर्वी यूरोपीय देश को सहायता की दूसरी खेप भेजी जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘पोलैंड के जरिए यूक्रेन को मानवीय सहायता की पहली खेप लेकर एक विमान सुबह रवाना हुआ। ”

-केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश ने कहा है कि युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे छात्रों तथा अन्य लोगों के परिवारों की मदद के लिए दो हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। यहां जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, यूक्रेन में फंसे छात्रों तथा अन्य लोगों के परिवार हेल्पलाइन नंबर 9173572-00001 और 9198154-25173 पर फोन कर सकते हैं। 

Russia-Ukraine-war:रूस ने यूक्रेन पर किया हमला,यूक्रेन के सैन्य ठिकानों पर हमला जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने यूक्रेन पर रूस के हमले(Russia attack Ukraine) से पैदा हुए संकट पर मंगलवार को कई यूरोपीय नेताओं से चर्चा की और इस दौरान उन्होंने यूक्रेन में जारी युद्ध व इससे बिगड़ती मानवीय स्थिति पर चिंता प्रकट की। 

 

 

Russia-Ukraine-War-New-advisory-for-stuck-Indians-in-Ukraine

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button