breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

Breaking:काबुल में कुछ भारतीयों को ले गए तालिबानी,कुछ भारतीयों की वापसी:सूत्र

इससे पहले शुक्रवार सुबह भारतीय वायु सेना (Indian Air force) के विमान  सी-130जे(C-130J Aircraft) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) से 85 भारतीय नागरिकों को भारत लाने के लिए काबुल से उड़ान भरी।

Taliban-took-some-Indians-to-Kabul-special-air-force-Aircraft-rescue-Indians

नई दिल्ली:सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक काबुल एयरपोर्ट के बाहर से कुछ भारतीयों तालिबानी को ले गए (Taliban-took-some-Indians-to-Kabul) है।

कुछ भारतीयों के अपहरण की पहले खबर थी,लेकिन अब सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,किसी भारतीय को फिलहाल कोई खतरा नहीं है और अब इन भारतीयों को पूछताछ के बाद काबुल एयरपोर्ट छोड़ दिया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार,कुछ भारतीयों से स्थानीय पुलिस स्टेशन में पूछताछ की गई है।

सोर्सेज से मिली ताजा जानकारी के अनुसार,जिन भारतीयों को काबुल एयरपोर्ट से तालिबानी(Taliban) ले गए थे,उन्हें अब काबुल एयरपोर्ट छोड़ दिया गया है।

अब 150भारतीय स्वदेश लौटने के लिए काबुल एयरपोर्ट पर पहुंच गए है।

फिलहाल किसी भारतीय को कोई खतरा नहीं दिख रहा।

तालिबान चाहता था भारत अपना काबुल दूतावास खाली न करें,भेजा था संदेश:सूत्र

इससे पहले शुक्रवार सुबह भारतीय वायु सेना (Indian Air force) के विमान  सी-130जे(C-130J Aircraft) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) से 85 भारतीय नागरिकों को भारत लाने के लिए काबुल से उड़ान(special air force Aircraft rescue Indians from afghanistan)भरी।

लेकिन फिर सूत्रों से पता चला कि काबुल एयररपोर्ट(Kabul airport)के बाहर से तालिबानी कुछ भारतीयों को पूछताछ के लिए ले गए है। सरकार हालात पर नजर बनाएं है।

अफगानिस्तान की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए भारत सरकार निरतंर भारतीयों को काबुल से स्वदेश वापस लाने के काम में जुटी है।

Taliban-took-some-Indians-to-Kabul-special-air-force-Aircraft-rescue-Indians

सूत्रों ने बताया कि विमान ईंधन भरवाने के लिए ताजिकिस्तान के दुशांबे में सुरक्षित रूप से उतरा।

सूत्रों ने कहा कि इस समय काबुल(Kabul) में हवाई अड्डे के बाहर अफरा-तफरी मची हुई है और सरकार का ध्यान ज्यादा से ज्यादा भारतीयों को हवाईअड्डे के अंदर लाकर सुरक्षित रखने पर है।

सूत्रों ने यह भी कहा कि भारतीय वायुसेना(Indian air force) का एक और विमान C-17 कम से कम 150 से 180 और भारतीयों को घर लाने के लिए काबुल के लिए उड़ान भरने के लिए तैयार है।

VIDEO: मार देगा तालिबान,बचा लो मुझे-रोते हुए अफगानी लड़की की गुहार

जैसे ही पर्याप्त भारतीय एयरपोर्ट पहुंच जाएंगे, उस वक्त इस विमान के उड़ान भरने की उम्मीद है।

तालिबान के चेक पोस्ट की वजह से लोगों को काबुल हवाई अड्डे तक पहुंचने में दिक्कत हो रही है।

सूत्रों ने कहा कि इस समय हमारी प्राथमिकता भारतीयों को अफगानिस्तान से सुरक्षित बाहर निकालने की है।

Taliban-took-some-Indians-to-Kabul-special-air-force-Aircraft-rescue-Indians

गृह मंत्रालय एक अधिकारी ने कहा कि भारत ने सभी डिप्लोमैटिक स्टाफ(Diplomat staff) को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है,

लेकिन युद्धग्रस्त अफगानिस्तान के कई शहरों में लगभग 1,000 भारतीय नागरिक  अब भी फंसे हुए हैं।

वे कहां और किस हाल में है, यह पता लगाना एक चुनौती साबित हो रहा है, क्योंकि उनमें से सभी ने दूतावास में अपना पंजीकरण नहीं कराया है।

सूत्रों ने कहा कि काबुल के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट का संचालन मुश्किल साबित हुआ है, इसलिए आईएएफ स्टैंडबाय पर है।

अनुमानित 400 से अधिक भारतीयों को निकालने की आवश्यकता हो सकती है, लेकिन सटीक आंकड़ा फिलहाल स्पष्ट नहीं है।

सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय अफगान नागरिकों के वीजा आवेदनों का भी आंकलन कर रहा है।भारतीय वायुसेना के दो सी-17 विमानों ने 15 अगस्त को भारतीय दूतावास(Indian embassy) के कर्मियों को निकालने के लिए काबुल में उड़ान भरी थी।

विमान में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवान भी शामिल थे, जिन्हें सभी के सुरक्षा का जिम्मा सौंपा गया था।

काबुल हवाई अड्डे पर अराजकता को देखते हुए पहले विमान ने बहुत ही चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में उड़ान भरी, जहां हजारों हताश अफगान देश से बाहर उड़ान भरने की उम्मीद में पहुंचे थे।

भारतीय मिशन के 120 से ज्यादा सदस्यों का समूह दूसरे IAF C-17 में सवार हुआ था।

इस विमान में राजदूत रुद्रेंद्र टंडन भी सवार थे।

विमान ने मंगलवार सुबह सुरक्षित रूप से अफगान हवाई क्षेत्र से निकलकर गुजरात के जामनगर में लैंड किया था।

Taliban-took-some-Indians-to-Kabul-special-air-force-Aircraft-rescue-Indians

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =

Back to top button