breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजलाइफस्टाइलहेल्थ
Trending

World Heart Day 2021:दिखने लगे ये लक्षण, समझ लें हार्ट अटैक के आने वाले है क्षण

वक्त रहते अगर आप लक्षणों की पहचान कर लें और अपना खान-पान-लाइफस्टाइल सुधार लें तो हार्ट अटैक या दिल की बीमारी से बचा जा(heart-attack-treatment) सकता है।

World-Heart-Day-2021-symptoms-of-heart-attack-heart-attack-treatment

नई दिल्ली:आज विश्व ह्दय दिवस(World-Heart-Day-2021) है।

इस अवसर पर हम आपको बताएंगे कि आखिर वो कौन से लक्षण है,

जिनसे पता चलता है कि अब आपका शरीर हार्ट अटैक की गिरफ्त में जा(symptoms-of-heart-attack)रहा है।

वक्त रहते अगर आप लक्षणों की पहचान कर लें और अपना खान-पान-लाइफस्टाइल सुधार लें तो हार्ट अटैक या दिल की बीमारी से बचा जा(heart-attack-treatment) सकता है।

चूंकि वैसे भी आज के तनावपूर्ण वातावरण में हार्ट की बीमारी उम्र से नहीं बल्कि गलत लाइफस्टाइल और खान-पान में लापरवाही के चलते आती है।

World Heart Day 2021:symptoms of heart attack- heart attack treatment-causes

मौत एक ऐसा सच है जिसका सामना कभी न कभी हम सभी को करना ही है। लेकिन यह हैरान आपको तब कर देती है,जब उस वक्त आती है, जब इसके आने की उम्र भी नहीं होती।

यूं तो मौत पर किसी का बस नहीं लेकिन असमय,कम उम्र में मौत हर किसी को डरा देती है। जैसाकि फेमस स्टार सिद्धार्थ शुक्ला के साथ हुआ।

heart attack treatment-causes of heart attack- symptoms of heart attack-2

महज 40 साल की उम्र में सिद्धार्थ शुक्ला की हार्ट अटैक से मौत(Sidharth Shukla died due to heart attack)हो गई,जबकि वे हमेशा जिम चाहते थे और खुद को हेल्दी भी रखते थे।

ऐसे में जानना जरुरी है कि वो कौन सी गलतियां या कारण है,जिनके कारण आज का युवा बेहद कम उम्र में ही दिल की बीमारी का शिकार होता जा रहा है।

मानसून स्पेशल बालों को बचाने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

दरअसल,आजकल की जिंदगी में कंप्टिशन और वर्क प्रेशर इतना ज्यादा है कि हम अपना हेल्दी लाइफस्टाइल अपना ही नहीं पाते।

बहुत बार इतना बिजी हो जाते है कि खुद को समय देना भूल जाते है।

जिस कथित स्वस्थ जीवन के लिए हम पैसों के पीछे भाग रहे है,अंत में वो पैसा भी हमें नहीं बचा पाता चूंकि तब तक हम बहुत सी लापरवाही अपनी दिनचर्या में बरत चुके होते है।

हमारा खान-पान,सोना-जागना और खुश रहना सब बिगड़ चुका है। जिसका नतीजा हमारी सेहत पर स्लो पॉइजन की तरह पड़ रहा है।

एक खराब लाइफस्टाइल और बे-टाइम खान-पान और सोना हमारे शरीर के क्लॉक को डिस्टर्ब कर देता है।

Reduce High-BP: घर बैठे हाई बीपी को कैसे करें कंट्रोल,जानें लक्षण-बचाव के उपाय

नतीजा हम बहुत सारी मेडिकल प्रॉब्लम्स का शिकार हो जाते है और हमें पता भी नहीं चलता।चूंकि हम शरीर के संकेतों को बार-बार नजरअंदाज करते रहते है।

समय रहते इनपर ध्यान न देने का परिणाम होता है-ताउम्र के लिए हमारी सांसों का बंद हो जा। 

heart attack

इसलिए जरूरी है कि हम समय रहते जानें की हार्ट अटैक(Heart attack reason)के क्या कारण हो सकते है,ताकि अगर आपका शरीर भी इन संकेतों को भेज रहा है तो आप टाइम से अपना इलाज करा सकें और असमय मौत से बच सकें।

heart-attack-treatment-causes-of-heart-attack-symptoms

घरेलू वियाग्रा से बनो किसी भी उम्र में ताकतवर-शक्तिशाली-फौलादी

कम उम्र में हार्ट अटैक के कारण-(causes of heart attack)

heart-attack-treatment-causes-of-heart-attack-symptoms

आजकल देखा गया है कि ज्यादातर कम उम्र के लोग भी हार्ट या दिल की बीमारी के शिकार(Heart attack) हो रहे है और उनकी मृत्यु दर भी बढ़ी है,जबकि एक समय था जब हार्ट की बीमारी साठ के पार लोगों को ज्यादा होती थी।

लेकिन अब यह किसी को भी कभी भी हो सकती है। इसलिए इसके कारण जानना बहुत जरुरी है।

इसका सबसे बड़ा कारण है आपका खराब लाइफस्टाइल। हमेशा तनाव में रहना, बे-टाइम खाना और सोना। हद से ज्यादा मानसिक और शारीरिक काम करना,ड्रग्स या नशीले पदार्थों का सेवन करना इत्यादि।

Tips : बालों और त्वचा के लिए भी दही है बेहद फायदेमंद

 

इसलिए जरुरी है कि आप हार्ट अटैक से जुड़े लक्षणों को समय रहते पहचानें और अपना इलाज कराएं(symptoms of heart attack)

heart-attack-treatment-causes-of-heart-attack-symptoms

-लगातार खांसी

-थकान के साथ-साथ पसीना आना

-सीने में जलन की समस्या का बना रहना

-जबड़े, दांत या सिर में दर्द

-सांस लेने में परेशानी

-कंधों में दर्द

-सीने या बाहों में दर्द

-असामान्य हार्ट बीट शरीर में तेजी से बढ़ता दर्द

-अचानक तेजी से चक्कर आना

-गर्दन में दर्द (विशेष रुप से महिलाओं में)

हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या खाएं(how to prevent heart attack with food)

World-Heart-Day-2021-symptoms-of-heart-attack-heart-attack-treatment

यदि आप भी दिल से जुड़ी बीमारियों से समय रहते बचना चाहते है तो सबसे पहले अपना लाइफस्टाइल सुधारे। हेल्दी लाइफस्टाइल में सबसे उपर आता है कि आप क्या खा रहे है।

-अपनी डाइट में हरी सब्जियों और प्रोटीन को सबसे ज्यादा महत्व दें। पौष्टिक तत्वों से भरपूर खाना खाएं,इससे आपका दिल स्वस्थ रहेगा।

-एक रिसर्च बताती है कि हार्ट को हेल्दी रखने के लिए अपनी डाइट में साल्मन मछली, अलसी, अखरोट, सोयाबीन और बादाम शामिल करना बहुत फायदेमंद है।

-इस बात को याद रखें कि हेल्दी डाइट आपके बीपी,डायबिटीज और ब्लड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कंट्रोल में रखती है।

-पोषण से भरपूर खाना आपके दिल को स्वस्थ रखता है और आप हार्ट अटैक से बच सकते है।

-जहां तक हो सकें,गेहूं की रोटी की जगह बाजरा, ज्वार या रागी अथवा इनका आटा मिलाकर बनाई रोटी खाएं।

-आम, केला, चीकू जैसे ज्यादा मीठे फल कम खाएं।

-इनकी जगह पपीता, कीवी, संतरा सरीखे कम मीठे फल खाएं।

-तली और मीठी चीजें जितना कम कर दें, उतना बेहतर है। जितनी भूख है उससे 20 फीसदी कम खाएं और हर 15 दिन में अपना वजन चेक करते रहें।।

लेकिन हमारे देश में तो हमने हाल ही में सिद्धार्थ शुक्ला जैसे 40वर्षीय फिट दिखने वाले कलाकार को हार्ट अटैक के कारण खो दिया है,जिससे पता चलता है कि इस बारे में बात करना कितना जरुरी है।

हार्ट को हेल्दी रखने के लिए इन उपायों को अपनाएं(heart attack treatment)

World-Heart-Day-2021-symptoms-of-heart-attack-heart-attack-treatment

जल्द सोने-जागने का रुटीन बनाएं,कम से कम 7 घंटे की नींद लें(Good Sleep) 

रोजाना कम से कम 7 घंटे की नींद जरूर लें। जल्दी सोने और जल्द उठने का रूटीन बनाएं।

रात 10 से सुबह 6 बजे तक सोने का सही समय है।

इससे शरीर नाइट साइकिल में बेहतर आराम कर सकेगा। तनाव लेने से बचें, इसका सीधा असर दिमाग और दिल पर होता है।

 

 

स्मोकिंग को न कहें(Say No To Smoking)

आप ये जानते ही होंगे कि धूम्रपान (Smoking) हमारी सेहत पर क्या असर करते है। ये कई तरह से हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है।

साथ ही कई बीमारियों का कारण है।धूम्रपान (Smoking)आपके रक्त को चिपचिपा बनाता है, जिससे अधिक थक्कों का विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है, जो दिल के दौरे जैसे खतरों को न्योता दे सकता है।

 

ब्लड प्रेशर बढ़ने का कारण (Blood Pressure Increase Reasons)

सुबह ठंड में हो सके तो सैर पर ना जायें, क्योंकि ये आपके ब्लड प्रेशर(Blood Pressure) को बढ़ा सकता है, जिसके कारण आपके हार्ट पर भी दवाब बढ़ता है।

सुबह हल्की धूप निकलने के बाद सैर पर जाना आपके लिए अच्छा होगा।

 

 

वर्कआउट : 45 मिनट की वॉक या एक्सरसाइज जरूरी

सप्ताह में पांच दिन 45 मिनट तक कसरत करें। वॉकिंग भी करते हैं तो असर दिखता है। दिल की बीमारियों की एक बड़ी वजह मोटापा है।

वजन जितना बढ़ेगा और हृदय रोगों का खतरा उतना ज्यादा रहेगा। फिटनेस को इस स्तर पर लाने का प्रयास करें कि सीधे खड़े होने पर जब आप नीचे नजरें करें तो बेल्ट का बक्कल दिखे।

अगर एक से डेढ़ किलोमीटर जाना है तो पैदल जाएं।

World-Heart-Day-2021-symptoms-of-heart-attack-heart-attack-treatment

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 2 =

Back to top button