breaking_newsअन्य ताजा खबरेंघरेलू नुस्खेहेल्थ
Trending

Treatment for Heat stroke Sunstroke:गर्मी में लू लगने पर करें ये उपाय,जानें लक्षण

Sunstroke treatment-sunstroke symptoms:गर्मी में शरीर दे ये संकेत तो समझ ले लग गई लू,जानें लू से बचने के उपाय

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan

इन दिनों सूरज आग उगल रहा है। गर्मी(Summer) का ताप दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है। बाहरी वातावरण में जैसे-जैसे गर्मी का तापमान बढ़ता है,ठीक वैसे ही आपके शरीर के तापमान में भी वृद्धि होती है।

इसलिए कहा जाता है कि जहां तक हो सकें गर्मियों के दिनों में कम से कम दिन के समय बाहर न निकलें।चूंकि इससे न केवल स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां पैदा हो जाती है बल्कि लू लगने की दिक्कत भी खड़ती हो जाती है।

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
sun stroke

लू(Loo)को हीट स्ट्रोक(heat-stroke)या सन स्ट्रोक(sunstroke)भी कहते है।हीट स्ट्रोक को हीट इंज्युरी के रूप में भी जाना जाता है,जोकि चिकित्सीय दृष्टि से आपातकाल की स्थिति है।

दरअसल,गर्मी में ज्यादा देर धूप या गर्म तापमान में रहने से शरीर गर्म हो जाता है,जिससे सन स्ट्रोक या हीट स्ट्रोक(Heat Stroke) हो जाता है।

कई बार हीट स्ट्रोक या लू लगने की समस्या नॉर्मल भी होती है और कभी-कभी इसके बहुत ही गंभीर परिणाम देखने को मिलते है,जिनके चलते जान तक चली जाती है।

ऐसे में जरूरी है कि आप हीट स्ट्रोक(heat-stroke-symptoms) या लू लगने के पहले लक्षण(loo-lagne-ke-lakshan) जान लें।

चूंकि किसी भी बीमारी के इलाज के लिए उसके लक्षण पता होना बहुत जरुरी(Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan) है।

गर्मियों में पसीना त्वचा के लिए है अच्छा या ख़राब, यहां जानें सबकुछ

Sunstroke treatment-sunstroke symptoms:गर्मी में शरीर दे ये संकेत तो समझ ले लग गई लू,जानें लू से बचने के उपाय

लू लगने के क्या है लक्षण । heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan

लू लगने के लक्षण दो प्रकार के होते है। हल्की लू लगना और तेज लू लगना।चलिए विस्तार से दोनों के बारे में बताते है।

लू के हल्के लक्षण

जब आप मेहनत से भरा काम करके हटते है या फिर देर तक बैठकर उठते है या सोकर जागते है तो अचानक से आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, लाल-पीले अजीब गरीब आकृतियां आंखों के सामने आ जाना।

– चक्कर आना

– उल्टियां शुरू होना

– अचानक काम करते वक्त मांसपेशियों में तेज ऐंठन (स्पाज्म) होना। आमतौर पर पैर के घुटने के नीचे की मांसपेशियों में ऐंठन होना

मांसपेशियों में बहुत तेज दर्द

– अचानक बेचैनी, घबराहट या फिर अजीबगरीब व्यवहार शुरू हो जाना

– कई बार तेज और कई हल्का बुखार आना

– बहुत ही तेज प्यास लगाना, बेहद तेज सिरदर्द या फिर तेजी से मन मितलाना शुरू हो जाना

शरीर के मेटाबॉलिज्म के अनुसार ये लक्षण अलग-अलग आदमी पर अलग-अलग तरीके दिखाई देते हैं। सबमें एक ही लक्षण नहीं दिखाई देते। कम या हल्का लू लगने का एक लक्षण लगातार पसीना आता रहना भी होता है।

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan

तेज-चिलचिलाती गर्मी से शरीर को है बचाना? तो इन 14 घरेलू उपायों का अपनाना

 

 तेज लू के लक्षण

– तेज लू लगने पर सबसे पहले इंसान को बेहद तेज बुखार आता है। डॉक्टरों के अनुसार मुंह या रेक्टल तापमान 40 डिग्री सेल्सियस यानी 104-105 डिग्री फैरिनहाइट या इससे ज्यादा भी पहुंच सकता है।

– हल्की लू लगने के एकदम विपरीत तेज लू लगने पर सबसे पहले इंसान के बदन से पसीना आना बंद हो जाता है। इसमें त्वचा एकदम सूख जाती है।

– तेज लू लगने का एक अन्य खास लक्षण है। तेज लू लगने के आदमी बेहद अजीब बर्ताव शुरू कर देता है। वह आपको पागलों की तरह हरकतें करते नजर आ सकता है।

वह अचानक तेज से तेज से बोलने लगेगा और अगले ही पल गिरकर बेहोश हो जाएगा। वह लोगों को पहचानने से भी मना कर सकता है। मतिभ्रम और काल्पनिक बातें भी कर सकता है।

 

याद रहेः तेज लू लगने वाले व्यक्ति के शरीर का तापमान अगर जल्द से जल्द नियंत्रण में नहीं लाया गया तो मरीज के शरीर के अंग अचानक काम करना बंद कर देते हैं। ज्यादातार ऐसे मामलों में मरीजों की मौत हो जाती है।

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
चलिए अब बताते है कि लू लगने पर आप प्राथमिक चिकित्सा क्या कर सकते है।हीट स्ट्रोक या सन स्ट्रोक का इलाज क्या्(Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay) है।

लू लगने पर बचने के घरेलू नुस्खे ।   loo se bachne ke upay

 

खूब पानी पिएं 

 Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan

बहुत सारा पानी(Water) पीने से गर्मी के दौरान पसीना  निकलता है और कई बार इससे वॉटर लॉस होता है। अगर आप गर्मी के थपेड़ों से बचना चाहते हैं तो पानी से बेहतरीन और कुछ नहीं हो सकता।

पानी हीट स्ट्रोक(Heat stroke) और अन्य प्रकार की गर्मी की बीमारियों को रोकने में मदद करता है। जब आपको पसीना आता है, तो पानी का इवेपोरेशन नेचुरल एयर कूलेंट की तरह काम करता है। 

तो अगर आपको हीट स्ट्रोक के कोई भी लक्षण(heat-stroke-symptoms)महसूस हों, तो तुरंत खूब पानी पिएं ताकि डिहाइड्रेशन से बचा जा सके।

 

प्याज

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
लू से बचने के उपाय

प्याज में ऑब्जर्विंग प्रॉपर्टीज होती हैं और इसलिए  ये हीट स्ट्रोक के लिए एक बेहतरीन उपाय है। प्याज का पेस्ट बनाकर आप इसे माथे पर लगा सकते हैं। प्याज के रस को कान और चेस्ट के पिछले हिस्से पर लगाने से भी शरीर का तापमान कम रहता है। ये उपाय सबसे इफेक्टिव होम रेमेडीज में से एक है और आयुर्वेद इसे रेकमेंड भी करता है।

 

नारियल पानी 

 Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
नारियल पानी

नारियल पानी छाछ की तरह ही काम करता है। ये एक्सेस स्वेटिंग के कारण शरीर से खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को फिर से भरने में मदद करता है।

दिन में दो से तीन बार नारियल पानी पीने से न सिर्फ आपका शरीर हाइड्रेटेड रहता है और  बॉडी का टेम्प्रेचर भी कम रहता है बल्कि आपकी स्किन की क्वालिटी में भी सुधार होता है।

 

कच्चे आम का पना 

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
नारियल पानी

कच्चे आम स्वादिष्ट ही नहीं सेहतमंद भी होते हैं। उन्हें हीट स्ट्रोक को ठीक करने(Treatment-for-heat-stroke)और रोकने में सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों(Home remedies) में से एक माना जाता है।

कच्चे आम का रस जिसे आम पन्ना भी कहा जाता है, हीट स्ट्रोक के लक्षणों को दूर करने के लिए एक बेहतरीन ड्रिंक है।  आम का पना कच्चे आम और मसालों को मिलाकर बनाया जाता है।

महंगाई भूल जाओ,इस बेहद सस्ते Mini AC से सिर्फ 138 रुपये में बर्फ सी ठंडक पाओ

 

 

Treatment-for-heat-stroke-sunstroke-loo-se-bachne-ke-upay-heat-stroke-symptoms-loo-lagne-ke-lakshan
नोट: ऊपर दी गई सामग्री सामान्य जानकारी देती है। आप इसे किसी भी तरह से मेडिकल ओपिनियन का ऑप्शन न समझें।अपनी समस्या की गंभीरता को समझते हुए हमेशा किसी एक्सपर्ट या चिकित्सक से परामर्श जरुर लें।समयधारा उपरोक्त जानकारी की सटीकता को प्रमाणित नहीं करता।

 

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button