breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

तो खत्म…किसान आंदोलन? गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस ने कहा-खाली करों सड़क,पानी-बिजली की सप्लाई काटी, टॉयलेट भी हटाए

अब किसान नेता राकेश टिकैत ने साफ कर दिया है कि वह किसी भी सूरत में गिरफ्तारी नहीं देंगे....

Farmers Protest:Delhi-UP Police on Ghazipur border-water-electricity supply cut

उत्तर प्रदेश: गणतंत्र दिवस पर हिंसक हुई ट्रैक्टर रैली(Tractor Rally violence) और लाल किला(Red Fort) पर झंडा फहराने की हरकत के बाद किसान आंदोलन(Farmers Protest) को गहरा झटका लगा है

और अब सिंघु व गाजीपुर बॉर्डर पर उत्तर प्रदेश पुलिस और दिल्ली पुलिस भारी संख्या में पहुंच गई( Delhi-UP Police on Ghazipur border) है।

पुलिस ने आंदोलनकारी किसानों से सड़क खाली करने को कहा है। गाजीपुर बॉर्डर पर फ्लैग मार्च हो रहा है और भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

इसके लिए गाजीपुर बॉर्डर पर बिजली- पानी की सप्लाई भी काट दी गई है और टॉयलेट भी हटा दिए गए (water-electricity supply cut) है।

डेढ़ हजार किसान अभी ग़ाजीपुर बॉर्डर पर बैठे है जबकि यूपी के डीएम ने बताया है कि आज रात तक गाजीपुर बॉर्डर के धरने के हटाना है।

लाल किले की घटना और ट्रैक्टर रैली हिंसा के लिए दिल्ली पुलिस ने किसान नेता राकेश टिकैत को समेत 20 लोगों को नोटिस भेजा है।

33 एफआईआर दर्ज की गई है और 44 लोगों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए गए है। इनमें से लाल किला, आईटीओ और अक्षरधाम के पास हुई हिंसा के केस की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है।

Farmers Protest:Delhi-UP Police on Ghazipur border-water-electricity supply cut

इतना ही नहीं, किसान नेताओं के पासपोर्ट भी जब्त कर लिए गए है। दिल्ली पुलिस पूरी तरह सख्त एक्शन के मूड में आ चुकी है। राकेश टिकैत को पुलिस ने नोटिस दिया है और अब उनको जवाब देना है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने एलान कर दिया था कि वह धरना खत्म कर रहे है लेकिन फिर कुछ किसानों ने बताया कि कुछ भाजपा के कार्यकर्ताओं और विधायकों ने उनके साथ बदसलूकी की इसके बाद राकेश टिकैत ने दो टूक कह दिया कि वह अब गिरफ्तारी नहीं देंगे। माहौल काफी तनावपूर्ण है।

 

Farmers Protest:Delhi-UP Police on Ghazipur border-water-electricity supply cut

किसान नेता राकेश टिकैत का एलान- नहीं देंगे गिरफ्तारी 

इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत मंच से किसानों को संबोधित कर रहे है। पहले खबर थी कि वह गिरफ्तारी देंगे लेकिन अब किसान नेता राकेश टिकैत ने साफ कर दिया है कि वह किसी भी सूरत में गिरफ्तारी नहीं देंगे।

राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि पुलिस हमारे किसानों को पीट रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि कुछ बीजेपी विधायक यहां गाड़ी में आएं है और जानबूझकर साजिश करके हमारे आंदोलन को बदनाम किया गया है। हम शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे।

 ट्रैक्टर परेड के दौरान दर्ज 25 मुकदमों में से 9 केसों की जांच क्राइम ब्रांच करेगी, जबकि एक केस की तफ्तीश स्पेशल सेल और बाकी एफआईआर की जांच लोकल पुलिस के पास रहेगी।

26 जनवरी को हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद कुछ किसान संगठनों(Farmers Unions) ने स्वेच्छा से चिल्ला बॉर्डर, दलित प्रेरणा स्थल से आंदोलन वापस ले लिया है।

बागपत में लोगों को समझाने के बाद उन्होंने रात में धरना खत्म कर दिया।

एडीजी, (कानून-व्यवस्था), यूपी ने कहा कि यूपी गेट पर अभी कुछ लोग हैं, उनकी संख्या काफी कम हुई है।

गाजीपुर में हलचल तेज हो गई है, गाजियाबाद के डीएम ने बॉर्डर से हटने से ऑर्डर दे दिया है। इसके बाद से कई तंबू उखड़ने शुरू हो गए हैं।

किसान नेता, राकेश टिकैत ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस धरने पर गिरफ्तारी का प्रयास कर रहा है।

Farmers Protest:Delhi-UP Police on Ghazipur border-water-electricity supply cut

सर्वोच्च न्यायालय भी शांतिपूर्ण तरीके से धरने को जायज ठहराया है।

उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) गाजीपुर बॉर्डर पर कोई हिंसा नहीं हुई है। इसके बावजूद सरकार दमनकारी नीति अपना रही है। यह उत्तर प्रदेश सरकार का चेहरा है।

राकेश टिकैत बोले- लाल किले पर कौन लोग थे, सुप्रीम कोर्ट के जज उसकी जांच करें।

कमेटी जांच करे और पता लगाए कि वहां झंडा लगाने वाले कौन थे। यहां शांतिपूर्ण धरना चल रहा है। गाजीपुर में प्रशासन की टीम पहुंची।

राकेश टिकैत ने कहा कि-दीप सिद्धू कौन है, उसका किसके साथ कनेक्शन है। तिरंगे का अपमान कोई भी बर्दाश्त नहीं करेगा। SC कॉल रिकॉर्ड की जांच कराए।

गाजीपुर बॉर्डर पर कई स्थानीय लोग तिरंगे झंडे लेकर पहुंच गए हैं। लोग खालिस्तानी गो बैक के नारे लगा रहे हैं। लोगों का कहना है कि दो महीने से दिक्कत झेल रहे हैं।

किसान नेता नरेश टिकैत ने पहले धरना खत्म करने का एलान किया था लेकिन फिर पुलिस मंच पर पहुंच गई और कुछ बीजेपी विधायकों की भी उपस्थिति देखी गई

तो किसान नेता राकेश टिकैत ने उग्र होकर कहा कि अब यहां कोई गिरफ्तारी नहीं होगी। मैं फांसी लगा लूंगा।

Farmers Protest:Delhi-UP Police on Ghazipur border-water-electricity supply cut

Watch:

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve + 5 =

Back to top button