breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

Gyanvapi Masjid case:सुप्रीम कोर्ट का ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे पर रोक से इंकार,जल्द सुनवाई को तैयार

याचिकाकर्ता वकील ने ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के मामले में यथास्थिति बरकरार रखने की मांग की थी। CJI जस्टिस एनवी रमना ने कहा कि बिना कागजात देखे आदेश जारी नहीं कर सकते हैं।

Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey

नई दिल्ली:ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे का केस(Gyanvapi-Masjid-case)अब सुप्रीम कोर्ट(Supreme-Court)भी पहुंच गया है। वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाने से इंकार कर दिया(Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey)है।

हालांकि कोर्ट ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह इस मामले पर जल्द ही सुनवाई कर सकता है।

सुप्रीम कोर्ट में ज्ञानवापी मस्जिद(Gyanvapi Mosque)सर्वे को चुनौती देते हुए एक याचिका वाराणसी अंजुमन ए इंतेजामिया मस्जिद प्रबंधन कमेटी की ओर से दायर की गई(Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey-was-challenged)है।

इस याचिका में ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे पर रोक लगाने की मांग की गई है। हालांकि सर्वे पहले ही की तरह चलता रहेगा चू्ंकि सुप्रीम कोर्ट ने इस पर दखल देने से इंकार कर दिया है।

दरअसल,कमेटी ने अपनी SLP में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है।

21 अप्रैल को हाईकोर्ट ने वाराणसी की निचली अदालत के फैसले पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

Jahangirpuri Demolition case:सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरी पुरी में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक,अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद

निचली अदालत ने ज्ञानवापी मस्जिद में वीडियो सर्वे कराने के लिए कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया था। हाईकोर्ट ने मस्जिद कमेटी की अर्जी को खारिज कर दिया था। अब कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दाखिल की है।

सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल यथास्थिति बरकरार रखने का आदेश जारी करने से इनकार कर दिया(Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey)है।

याचिकाकर्ता वकील ने ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के मामले में यथास्थिति बरकरार रखने की मांग की थी। CJI जस्टिस एनवी रमना ने कहा कि बिना कागजात देखे आदेश जारी नहीं कर सकते हैं।

NEET PG 2022 exams 21 मई को ही होगा,SC ने परीक्षा टालने से किया इंकार

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट मामले की जल्द सुनवाई करने को तैयार हो गया है।

याचिकाकर्ता के वकील हुफेज़ा अहमदी ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि निचली अदालत के सर्वे का आदेश प्लेसज ऑफ वर्शिप एक्ट 1991 के खिलाफ है।

गौरतलब है कि एक दिन पहले यानी गुरुवार की दोपहर वाराणसी की अदालत ने ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे 17 मई तक पूरा करने का आदेश दिया था और साफ कर दिया था कि ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए नियुक्त कमिश्नर अजय मिश्रा को नहीं बदला(Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey)जाएगा।

अदालत ने उनके अलावा विशाल सिंह और अजय प्रताप को भी दो सर्वे कमिश्नरों के रूप में जोड़ा है।

SC on Pegasus : केंद्र को नोटिस दिया जाए, …तो आरोप गंभीर, अगली सुनवाई 10 अगस्त को

अदालत ने ये भी कहा था कि सर्वे जारी रहेगा और ज़रूरत पड़े तो सर्वे करने वाले लोग मस्जिद के भीतर तक जा सकते हैं और उसकी वीडियोग्राफ़ी भी कर सकते हैं।

अदालत ने ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी परिसर का वीडियोग्राफी सर्वे कराने के लिए नियुक्त कोर्ट कमिश्नर को पक्षपात के आरोप में हटाने संबंधी याचिका खारिज करते हुए स्पष्ट किया कि 17 मई तक सर्वे कमेटी रिपोर्ट दे।

आपको बता दें  कि दिल्ली निवासी राखी सिंह तथा चार अन्य महिलाओं ने श्रृंगार गौरी की नियमित पूजा अर्चना की अनुमति देने और परिसर में स्थित विभिन्न विग्रहों की सुरक्षा का आदेश देने के आग्रह संबंधी याचिका दाखिल की थी।

इस पर सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर की अदालत ने 26 अप्रैल को एक आदेश जारी कर ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर की वीडियोग्राफी सर्वे कराकर 10 मई तक रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे।

अदालत ने इसके लिए अजय मिश्रा को कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया था।

 

Board exams 2022:10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं ऑफलाइन ही होगी,ऑनलाइन परीक्षा की मांग सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की

 

Gyanvapi-Masjid-case-Supreme-Court-refuses-to-stop-Gyanvapi-Mosque-survey

 

 

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button