breaking_newsअन्य ताजा खबरेंकानून की कलम सेकानूनी सलाहदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

देश में अब लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 करने का प्रस्ताव,कैबिनेट ने दी हर झंडी:सूत्र

अभी पुरुषों की विवाह की न्यूनतम उम्र 21 और महिलाओं की 18 है....

Women-marriage-age-in-India-raise-now-from-18-to-21-Cabinet-approves-proposal

नई दिल्ली:देश में जल्द ही अब महिलाओं की शादी की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21साल होने जा रही है।

लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के प्रस्ताव को कैबिनेट की हरी झंडी मिल गई (Women-marriage-age-in-India-raise-now-from-18-to-21-Cabinet-approves-proposal) है।

जिसके तहत महिलाओं की शादी(Marriage)की वैध उम्र 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने का प्रस्ताव दिया गया है।सूत्रों के हवाले से इस खबर की जानकारी मिली है।

प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो,कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव पर बुधवार को निर्णय हुआ है।

अब इसे कानूनी अमलीजामा पहनाने के लिए सरकार मौजूदा क़ानूनों में संशोधन लाएगी।

Delhi Unlock Guidelines-आज से 50फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे जिम,मैरिज हॉल,जानें सबकुछ

आपको बता दें कि बीते वर्ष स्वतंत्रता दिवस(Independence Day)के अवसर पर सबसे पहले पीएम नरेंद्र मोदी(PM Narendra Modi)ने लाल किले(Red Fort)से दिए गए अपने संबोधन महिलाओं की शादी की उम्र बढ़ाने जाने का उल्लेख किया था।

उन्होंने कहा था कि बेटियों को कुपोषण से बचाने के लिए आवश्यक है कि उनका विवाह उचित समय पर हो।

अभी पुरुषों की विवाह की न्यूनतम उम्र 21 और महिलाओं की 18 है।

पत्नी नहाती नहीं, इसलिए पति ने मांगा तलाक,जानें क्या कहा कोर्ट ने

Women-marriage-age-in-India-raise-now-from-18-to-21-Cabinet-approves-proposal

अब सरकार इसे मूर्त रूप देने के लिए बाल विवाह निषेध कानून, स्पेशल मैरिज ऐक्ट और हिंदू मैरिज ऐक्ट में संशोधन लाएगी।

नीति आयोग में जया जेटली की अध्यक्षता में बने टास्क फ़ोर्स ने इसकी सिफारिश की थी।

कर रहे है शादी का प्लान? तो रखें पार्टनर की इन बातों का ध्यान

वी के पॉल भी इस टास्क फ़ोर्स के सदस्य थे. इनके अलावा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, महिला तथा बाल विकास, उच्च शिक्षा, स्कूल शिक्षा तथा साक्षरता मिशन और न्याय तथा कानून मंत्रालय के विधेयक विभाग के सचिव टास्क फ़ोर्स के सदस्य थे।

इसका गठन पिछले साल जून में किया गया था और पिछले साल दिसंबर में ही इसने अपनी रिपोर्ट दी थी।

टास्क फ़ोर्स का कहना था कि पहले बच्चे का जन्म देते समय उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए।

विवाह में देरी का परिवारों, महिलाओं, बच्चों और समाज के आर्थिक, सामाजिक और स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

 

Women-marriage-age-in-India-raise-now-from-18-to-21-Cabinet-approves-proposal

 

 

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 + five =

Back to top button