breaking_newsअन्य ताजा खबरेंएजुकेशनएजुकेशन न्यूजदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

Delhi/NCR में कोरोना रिटर्न्स,नए COVID केसों के चलते तीन दिन में 6 स्कूल बंद

बीते 24 घंटों में देशभर में कोरोना के 1088 नए केस दर्ज हुए है।

 Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days

नई दिल्ली:अगर आपको लग रहा है कि अब कोरोनावायरस(Coronavirus)खत्म हो गया है तो आप गलत है। दिल्ली/एनसीआर में कोरोना की वापसी हो गई( Delhi/NCR-Corona-Returns)है।

दिल्ली-एनसीआर में तीन दिन में कुल छह स्कूल नए कोरोना मामलों के चलते बंद करने पड़े( Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days) है।

एक ओर जहां देश में कोरोना की रफ्तार थमती दिख रही थी और दिल्ली(Delhi) सहित कई राज्यों में मास्क की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया था।

वहीं देशभर में फिर से नए कोरोना केस सिर उठा रहे है। दिल्ली एनसीआर में कोरोना( Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days)का नया संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।

बीते 24 घंटों में देशभर में कोरोना के 1088 नए केस दर्ज हुए(new covid cases) है।

Delhi Corona Updates : कोरोना के नए मामलों में कमी, पर मौत के आंकड़े रहे डरा

11 अप्रैल को नोएडा (Noida) के सेक्टर 40 के खैतान पब्लिक स्कूल (Khaitan Public School) में एक साथ कोरोना के 16 मामले सामने आए जिसमें से 13 बच्चे और 3 टीचर संक्रमित थे।

इतने सारे मामलों को देखते हुए स्कूल मैनेजमेंट ने फिलहाल स्कूल को बंद कर दिया है और स्कूल ऑनलाइन मोड पर चलाया जाएगा।

बात सिर्फ नोएडा की ही नहीं बल्कि गाजियाबाद (Ghaziabad) की भी करें तो वहां भी 2 स्कूलों में पॉजिटिव केस मिलने के बाद स्कूल बंद किए जा चुके(Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days) हैं।

इस बीच देश में कोरोना के नए वेरिएंट XE ने भी अपना कदम रख दिया है।

 

Delhi में कोरोना पाबंदियां खत्म,सोमवार से हटेगा नाइट कर्फ्यू,रेस्टोरेंट,दुकानें देर रात तक खुल सकेंगी,जानें नई गाइडलाइन

 

कोरोना की चौथी लहर की आशंका,बच्चों पर कितना खतरा

एक्सपर्ट्स की मानें,तो नए कोरोना केसों में उछाल कोरोना की चौथी लहर(Corona fourth wave) हो सकता है। हालांकि जहां तक बच्चों की बात है तो देश में 12 से 15 साल के बच्चों का टीकाकरण भी अब शुरू हो गया है।

इससे पहले 15 से 18 साल के बच्चों के टीकाकरण की शुरुआत हुई थी, लेकिन अब 12 से 15 साल के बच्चों को भी कोविड-19 का टीका लगना शुरू हो गया है।

धीरे-धीरे राज्यों में बच्चों का टीकाकरण(Children Vaccination)तेज हो गया है। वहीं, इस बीच सरकार के टीकाकरण सलाहकार समूह के प्रमुख एनके अरोड़ा ने बताया कि कोरोना के नए XE वेरिएंट से डरने की या परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि ये ओमिक्रोन(Omicron) वेरिएंट ही नए वेरिएंट्स का रूप ले रहा है लेकिन उससे कोई भी गंभीर मसला नहीं हुआ है।

कोरोना के नए वेरिएंट ऐसे ही आते रहेंगे लेकिन इससे लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

 

 

 

बच्चों की सुरक्षा कैसे करें

बच्चों के स्कूल खुलने के साथ ही कई राज्यों में मास्क पहनने पर जो पाबंदी थी वो भी अब खत्म हो गई है। ऐसे में बहुत से ऐसे बच्चे भी हैं जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है, क्योंकि उनकी उम्र 12 से कम है।

फिलहाल देश में 12 साल तक के बच्चों को ही वैक्सीन लगनी शुरू हुई है।

ऐसे बच्चों के लिए स्कूल कितना सुरक्षित है, इस सवाल पर दिल्ली पटपड़गंज मैक्स के निदेशक डॉ मनोज कुमार ने बताया बच्चों में अब तक ओमिक्रोन का असर भी ज्यादा नहीं दिखा था, बच्चों में माइल्ड सिम्टम्स ही थे, लेकिन फिर भी जो बच्चे अब तक वैक्सीनेटेड नहीं हैं उनके लिए जरूर खतरा बढ़ गया( Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days) है।

Delhi:आज से खुल रहे है दिल्ली के सभी स्कूल-कॉलेज,जारी रहेंगे ये कोविड-नियम

उन्होंने कहा इसलिए जो बच्चे स्कूल जा रहे हैं उनके पेरेंट्स को थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए जैसे, अपने बच्चे को मास्क लगाकर स्कूल भेजना चाहिए, उसके साथ उन्हें सैनिटाइजर देना चाहिए।

बच्चों को घर पर ही कुछ चीजों के बारे में पहले से गाइड करना चाहिए जैसे वो किसी के साथ खाना ना खाएं। खाना खाने से पहले हाथ को सैनिटाइज जरूर करें और कोशिश करें कि अपने साथ सैनिटाइजर को हमेशा रखें।

अगर किसी बच्चे की तबीयत खराब हो तो पैरेंट्स उन्हें स्कूल ना भेजें।

 

Delhi private schools fees-अभिभावकों को राहत,प्राइवेट स्कूलों को लौटानी होगी 15 फीसदी फीस

 

माता-पिता है चिंतित

गाजियाबाद और नोएडा के स्कूलों में कोरोना के मामले सामने आने के बाद दूसरे स्कूलों में अपने बच्चों को भेजने वाले पैरेंट्स की चिंता बढ़ गई है।

नोएडा के एक स्कूल में कक्षा तीसरी में पढ़ने वाली स्नेहा की मां ने बताया की 2 साल से उनको डर था कि बच्चों को स्कूल में कोरोना ना हो जाए लेकिन अब उन्होंने अपनी बेटी के साथ अपने बेटे का भी किंडरगार्डन में एडमिशन करा दिया है।

वो अभी काफी छोटा है ऐसे में वो सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं कर पाता है इसलिए अब उन्हें स्कूल भेजने को लेकर चिंता होने लगी है।

वहीं, पांचवी में पढ़ने वाले नैतिक के घरवालों के मुताबिक स्कूल भेजने में चिंता जरूर सता रही है लेकिन ज्यादा दिन घर में बैठने से बच्चे की पढ़ाई पर असर हो रहा है इसलिए वो सावधानी बरत रहे हैं।

 

 

 

क्या कहते हैं आकंड़े

दिल्ली में कोरोना के मरीज एक बार फिर से बढ़ रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में 202 नए मामले सामने आए हैं, जिसके चलते कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 688 पर पहुंच गई है। 

आज यानी 13 अप्रैल 2022 की सुबह आठ बजे केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 1,088 मामले सामने (India news corona cases 1088)आए, जबकि इससे पहले 12 अप्रैल को 796 नए मामले सामने आए थे, जबकि 11 अप्रैल को 861 नए मामले सामने आए थे। 

 

 

 

 

 Delhi/NCR-Corona-Returns-6-schools-closed-in-three-days

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button