breaking_newsअन्य ताजा खबरेंघरेलू नुस्खेहेल्थ
Trending

दस्त,उल्टी और पेट में मरोड़ से छुटकारा दिलाएंगे ये 12 घरेलू नुस्खे

जरूरी है कि आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय पता हो जिनकी मदद से तुरंत दस्त,उल्टी और पेट में मरोड़ से राहत मिल(Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe)सकें।

Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe

ज्यादा गर्मी हो या ज्यादा सर्दी, मतलब बदलते मौसम का सबसे पहले असर आपके पाचन तंत्र यानि पेट पर ही पड़ता है।

ऐसे में गलत खान-पान, बेटाइम खाना,बाहर का खाना,ज्यादा तनाव, अधिक तला-भूना और पेट में गर्मी आपके पाचन तंत्र को खराब कर देती है।

नतीजा पेट का बैंड बज जाता है। जिसके कारण दस्त(loose motion),उल्टी(vomiting),पेट में दर्द(stomach-pain) या मरोड़ उठना जैसी समस्याएं पैदा हो जाती है। यह सब परेशानियां पेट में संक्रमण या इंफेक्शन बढ़ने के कारण हो जाती है।

 

इसलिए जरूरी है कि आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय पता हो जिनकी मदद से तुरंत दस्त,उल्टी और पेट में मरोड़ से राहत मिल(Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe)सकें।

चलिए बताते है विस्तार से:

stomach-pain-and-loose motion-vomiting-home-remedies

1.अजवायन का पानी- अजवायन पेट की मरोड़ और एसिडिटी को ठीक करती है।अगर पेट में बहुत दर्द या मरोड़ उठ रही है तो तवे पर अजवाइन भून लें। इसके बाद इसमें सेंधा या काला नमक तीन ग्राम मात्रा में डालकर मिला लें और एक कप पानी के साथ सेवन करें।

आपको पेट दर्द और मरोड़ से तुरंत आराम मिल जाएगा। आप इसका सेवन दिन में दो बार कर सकते है। इससे पेट की मरोड़ से छुटकारा मिल जाएगा।

 

 

2.दही- दही(Dahi)में मौजूद गुड बैक्टीरिया आपके पाचन तंत्र को सुधारते है। पेट में मरोड़ और दस्त(Loose Motion) में दही काफी कारगर साबित होती है।दस्त की रोकथाम के लिए आप एक कटोरी दही को दिन में दो बार पी लें।

आप चाहे तो ईसबघोल में भी दो चम्मच दही मिलाकर खा सकते है। इससे भी दस्त में तुरंत राहत मिलती है।

 

 

3.मेथी-मेथी मे फाइबर होता है।मेथी के बीज पेट दर्द और दस्त में लाभदायक होते है। पेट में मरोड़ उठ रही है तो एक कटोरी दही लेकर उसमें मेथी के दानों को अच्छी तरह पीसकर मिला लें। आप अपने स्वादानुसार इसमें थोड़ा सा काला नमक भी डाल सकते है। इसप्रकार की दही के सेवन से पेट की मरोड़ में लाभ मिलता है।

Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe

 

 

4.हल्दी-हर घर की रसोई में हल्दी मौजूद रहती ही है। हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते है जो पेट को सभी प्रकार के संक्रमण और इंफेक्शन से बचाने में उपयोगी होते है। दस्त होने पर सुबह-शाम हल्दी के पानी का सेवन करने से राहत मिलती है।

 

 

5.अदरक- अदरक पाचन तंत्र के लिए बहुत उपयोगी है। अपच(Indigestion) की समस्या हो या फिर दस्त और पेट में दर्द अदरक इसमें लाभकारी साबित होती है।

दस्त होने पर आप अदरक और चाय पत्ती की आधा चम्मच दूध के साथ चाय बनाकर पी सकते है। आपको लाभ पहुंचेगा।

इतना ही नहीं, अपच या पेट में मरोड़ की परेशानी उठ रही है तो आप एक इंच अदरक के टुकड़े को कद्दूकस करके पानी में मिलाकर पी लें। आपको तुरंत राहत मिलेगी। स्वाद के लिए आप हल्का सा काला नमक भी डाल सकते है।

पेट का भारीपन कैसे कम करें,गैस से निजात कैसे पाएं

 

6.नींबू पानी-पतले दस्त या उल्टी और पेट में मरोड़ उठने पर बहुत जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहे। इस स्थिति में शरीर में पानी कमी हो जाती है जोकि जानलेवा भी हो सकती है। इसलिए समय-समय पर आप नींबू पानी,ओआरएस का घोल या ग्लूकोन डी पाउडर पानी के साथ पीते रहें।

इससे न केवल डायरिया यानि दस्त में राहत मिलती है बल्कि शरीर में ऊर्जा भी बनी रहती है और पानी की कमी दूर हो जाती है।

Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe

 

7.केला-केला न केवल खाने में स्वादिष्ट होता है बल्कि इसमें औषधीय गुण भी होते है। दस्त लगने पर केले का सेवन लाभदायक होता है। दस्त लगने पर कम से कम दिन में तीन केले खाएं। आपके दस्त तुरंत बंद हो जाएंगे।

 

 

8.जीरा- दस्त निरंतर हो रहे है और रूकने का नाम ही नहीं ले रहे तो एक चम्मच जीरा चबा लें। जीरा चबाकर पानी पी लें। इससे दस्त में तुरंत राहत मिलती है।

 

 

9.दालचीनी-दालचीनी की चाय दस्त और पेट दर्द में लाभकारी रहती है। इसके लिए  दालचीनी को पानी में उबालकर चाय बना सकते है। इस चाय में आप अदरक भी मिला सकते है।

अब इस चाय का सेवन दिन में दो बार करें। दस्त से छुटकारा मिल जाएगा।

 

Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe

10.नारियल पानी-नारियल पानी की शीतलता पेट को राहत पहुंचाती है। इसलिए दस्त में इसका सेवन बहुत उपयोगी रहता है। दस्त के कारण जब शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो नारियल पानी का सेवन इस कमी को पूरा करता है। इसमे ग्लूकोज भी होता है। आप हल्के दस्त की स्थिति में नारियल पानी को ग्लूकोज इलेक्ट्रोलाइट सॉल्यूशन के रूप में ले सकते है।

 

 

11.हींग- हींग पेट दर्द या अपच के लिए बहुत गुणकारी साबित होती है। आप चुटकीभर हींग सरसों के तेल में डालकर छोटे शिशु की नाभि में लगा दें इससे तुरंत पेट दर्द गायब हो सकता है। थोड़ी सी हींग का पानी के साथ सेवन करने से बड़े लोगों को भी पेट दर्द में राहत मिलती है।

 

 

12.सौंफ –सौंंफ(Saunf)खाना पचाने में सहायक होती है।अपच या गैस के कारण पेट में दर्द है तो खाना खाने के बाद सौंफ को मिश्री के साथ खाने से खाना हजम हो जाता है।इनडाइजेशन के कारण होने वाले पेट दर्द से राहत के लिए आप एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ पीसकर मिला लें और अब इस मिश्रण को 10 मिनट तक उबाल लें। इसके बाद ठंडा होने पर इसमें शहद मिलाकर पी लें। इससे पेट दर्द या ऐंठन में राहत मिलेंगी।

घरेलू वियाग्रा से बनो किसी भी उम्र में ताकतवर-शक्तिशाली-फौलादी

 

 

 

नोट- ऊपर दी गई जानकारी सामान्य घरेलू नुस्खे है जोकि किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा का विकल्प नहीं हो सकते। अपनी समस्या गंभीर होने पर संबंधित विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

 

 

Dast-peit-mein-marod-dard-aur-ulti-ke-12-gharelu-nuskhe

Show More

Reena Arya

रीना आर्य www.samaydhara.com की फाउंडर और एडिटर-इन-चीफ है। रीना आर्य ने पत्रकारिता के महज 6-7 साल के भीतर ही अपने काम के दम पर न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपनी पहचान बनाई बल्कि तमाम चुनौतियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए समयधारा.कॉम की नींंव रखी। हर मुद्दे पर अपनी ज्वलंत और बेबाक राय रखने वाली रीना आर्य एक पत्रकार, कंटेंट राइटर,एंकर और एडिटर की भूमिका निभा चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button