breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशविभिन्न खबरेंविश्वहेल्थ
Trending

WHO एक्सपर्ट की वॉर्निंग- भारत में होंगे विस्फोटक हालात, जो खुला सबकुछ

लोगों की आवाजाही दोबारा से शुरू होने के बाद महामारी के प्रकोप दिखाने का जोखिम हमेशा बना हुआ है...

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

नई दिल्ली: भारत (India) में अनलॉक1(Unlock1) के तहत 8 जून से देशभर में रेस्टोरेंट,मॉल,होटल,धार्मिक स्थल सबकुछ खुलने जा रहा है लेकिन इससे पहले ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक एक्सपर्ट ने भारत को वॉर्निंग दी है कि भारत में लॉकडाउन हटने (lockdown removal) से कोरोनावायरस के केसों में बहुत ज्यादा उछाल देखने को मिल सकता है और हालात विस्फोटक हो सकते है जोकि अभी नहीं है।

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने आगे कहा कि,अभी भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी को लेकर विस्फोटक हालात नहीं है,लेकिन देशभर में सबकुछ खुलने से हालात बेकाबू हो सकते है।

मार्च में लागू लॉकडाउन हटाने (Lockdown removal) की ओर बढ़ने से इस प्रकार के जोखिम बने हुए है।

डब्ल्यूएचओ के स्वास्थ्य इमरजेंसी सिचुएशन प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक मिशेल रियान ने शुक्रवार को कहा कि भारत में कोरोनावायरस के केसों की संख्या दोगुने होने का समय इस स्तर पर तकरीबन तीन हफ्ते का है।

 

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

 

कोरोनावायरस का रूप अभी विस्फोटक नहीं

जेनेवा में रियान ने कहा कि भारत के अलग-अलग हिस्सों में कोरोनावायरस(Coronavirus)का असर भी अलग-अलग है और शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बीच इसमें अंतराल है।

दक्षिण एशियाई वाले देशों में केवल भारत ही नहीं बल्कि घनी आबादी वाले अन्य देशों जैसेकि बांग्लादेश और पाकिस्तान में भी कोविड-19 का अभी विस्फोटक रूप नहीं हुआ है।

लेकिन ऐसा होने का खतरा लगातार बना हुआ है।

 

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

लॉकडाउन से नियंत्रित हुई संक्रमण की रफ्तार

विशेषज्ञ रियान ने कहा कि जब भी महामारी आती है तो समुदायों के बीच अपनी पैठ बना लेती है। इसलिए यह किसी भी समय अपना प्रकोप दिखा सकती है जैसाकि कई जगहों पर देखा भी गया है।

भारत में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (India nationwide lockdown) सरीखे कदमों ने संक्रमण को फैलने की रफ्तार को कम रखा है लेकिन अब देश में गतिविधियां शुरु होने के साथ ही कोरोना केसों के बढ़ने (India Corona case increase risk) का खतरा बना हुआ है।

 

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

लॉकडाउन हटने और गतिविधियां शुरू होने से बढ़ा संक्रमण का खतरा

रियान ने कहा है कि भारत में उठाए गये कदमों से निश्चित रूप से संक्रमण फैलने की रफ्तार कम करने की दिशा में असर हुआ है और फिर अन्य बड़े देशों की तरह भारत में भी गतिविधियां शुरू होने,

लोगों की आवाजाही दोबारा से शुरू होने के बाद महामारी के प्रकोप दिखाने का जोखिम हमेशा बना हुआ है।

उन्होंने बताया कि भारत में बड़े स्तर पर पलायन, शहरों में घनी आबादी तथा श्रमिकों के पास रोजाना काम पर जाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं होने सरीखे विशिष्ट मुद्दे भी हैं।

 

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

दुनिया में भारत बना पांचवा सबसे प्रभावित देश

भारत में COVID-19 महामारी के मामले कितनी तेजी से बढ़ रहे है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब भारत सर्वाधिक कोरोनावायरस प्रभावित देशों की सूची में इटली (Italy) और स्पेन (Spain) को छोड़कर विश्व में पांचवे स्थान पर आ गया है।

देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 2,46,429 हो गई है।

भारत दुनिया का 5वां सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देश बन गया (India becomes 5th most COVID-19 country)है l  स्पेन में अब तक 2,41,310 पॉजिटिव केस मिले हैं l  

अभी तक दुनियाभर में कोरोना संक्रमित की तादात 66,63,304 हो गयी  है l वही मरने वालों की संख्या  3,92,802 हो  गयी है l

डब्ल्यूएचओ (WHO) की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि 130 करोड़ से अधिक की आबादी वाले देश में कोरोना वायरस के दो लाख से अधिक मामले ज्यादा लगते हैं,

लेकिन इतने बड़े देश के लिए यह संख्या अब भी बहुत अधिक नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत एक विशाल देश है जहां बहुत घनी आबादी वाले शहर हैं,

वहीं कुछ ग्रामीण इलाकों में कम सघन बसावट है और इसके अतिरिक्त विभिन्न राज्यों में स्वास्थ्य प्रणालियों में भी विविधता है तथा इन सबकी वजह से कोविड-19 (COVID-19) को नियंत्रित करने में चुनौतियां सामने आ रही हैं।

 

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोग बरतें सभी सावधानियां

भारत में लॉकडाउन हटने और पाबंदियां हटने के साथ ही इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए कि लोग सभी प्रकार की सावधानियां बरतें।

हमने बार-बार इस बात पर जोर दिया है कि अगर आप बड़े स्तर पर व्यवहार में बदलाव चाहते है तो लोगों को इस बात के महत्व को समझना होगा कि उन्हें मास्क (Masks) पहनने जैसी कुछ बातों को अपनाने के लिए निरंतर क्यों कहा जा रहा है।

 

WHO warns India lockdown removal explosive risk persists of COVID-19

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + sixteen =

Back to top button